जीवन है मेरा एक गीत

जीवन मेरा है एक गीत
सुन्दर - सा, अपना सा गीत
हालातों ने बनाई है
इस गीत की सरगम
और
जीवन के उतार - चढ़ाव
बने हैं गीत के आरोह - अवरोह
मेरे गीत को साज़ों ने सजाया
मां की ममता ने
पिता के वात्सल्य ने
बहनों की मासूमियत ने
और
जीवन संघर्ष ने
परन्तु
शायद
इस गीत को गाने में
कोई साथ न दे
क्योंकि इस गीत में हैं
ईश्वर प्रदत्त सच्चाइयां
परन्तु
फिर भी
मैं गाऊंगा
क्योंकि
जीवन मरा है एक गीत
सुन्दर - सा, अपना सा गीत














 

Top

अस्मिता
` अस्मिता' एक ऐसा शब्द
जिसमें सरी सृष्टि समा जाती है
और वह स्वयं सृष्टि में
परिवर्तन चक्र से
नहीं बच पाती हैं अस्मिताएं
अस्मिताएं अपने साथ बदल देती हैं
हमारे अस्तित्व को भी

कभी
अधूरे प्यार में भी
छिपी रहती थी
पूर्णता की अस्मिता
राधा - कृष्ण के अधूरे प्यार में थी
पूर्णता की अस्मिता

परन्तु आज
पूर्ण से दिखने वाले प्यार में भी
अधूरापन है
यही अधूरापन है आज
प्यार की अस्मिता

परन्तु
कुछ अस्मिताएं नहीं बदलीं
जैसे द्रौपदी और सीता की अस्मिता
यहां समाज आज भी
करता है बार बार
नारी का चीरहरण
और
वही समाज लेता है उसी नारी की
अग्नि परीक्षा
बदली नहीं है
समाज की अस्मिता

समय की धारा में बह गई
बहुत सी अस्मिताएं
इस धारा में खड़ी हैं चट्टान सी
कुछ अस्मिताएं
यही है समय की
अस्मिता

कुलदीप सिंह ढाका `भारत'
नवम्बर
27, 2006